“बिहार राजनीति: चिराग पासवान का सीट शेयरिंग, महागठबंधन की उम्मीद, और नीतीश कुमार का वापसी”

चिराग पासवान और जेपी नड्डा के बीच बात चीत-:

बिहार एनडीए में सीट शेयरिंग का पेज अब सुलझता नजर आ रहा है लंबे समय से जिस बात की चर्चा थी कि चिराग पासवान आखिर मानेंगे या फिर एनडीए से बगावत कर देंगे चिराग पासवान को आखिरकार बीजेपी ने मना लिया है इसकी जानकारी चिराग पासवान ने भी दी है जेपी नड्डा से मुलाकात चिराग पासवान की हुई और सीटशेयरिंग पर फाइनल बातचीत हुई|

चिराग पासवान ने अपने X(Twitter)पर जानकारी दी-:

चिराग पासवान ने अपने एक्स(twitter)हैंडल पर लिखा एनडीए के सदस्य के रूप में आज भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जेपी नड्डा जी के साथ बैठक में हमने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए बिहार में सीट बंटवारे को अंतिम रूप दे दिया है उचित समय पर इसकी सूची आ जाएगी.आपको बता देंकि जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद चिराग पासवान बाहर निकले मीडियाकर्मियों को इंतजार था कि चिराग पासवान बोलेंगे लेकिन चिराग पासवान ने मीडियाकर्मियों से कोई बातचीत नहीं की चिराग पासवान ने अपने सोशल मीडिया पर जेपी नड्डा के फोटो शेयर किया है.

चिराग पासवान को आख़िरकार NDA ने मना लिया-:

आपको बता दें कि कहा जा रहा था कि चिराग पासवान लंबे समय से नाराज चल रहे हैं,और अगर उन्हें उचित सम्मान नहीं मिलता है, तो चिराग पासवान कोई भी फैसला ले सकते हैं, चिराग पासवान इससे पहले जब रैलीको संबोधित कर रहे थे तब भी उन्होंने कहा था कि उनका गठबंधन जनता के साथ है ऐसे में भारतीय जनता पार्टी लगातार उन्हें मनाने की कोशिश कर रही थी,

सीटो की साझेदारी:-

दूसरा खेमा पशुपति पारस का है जो कहा जा रहा था कि हाजीपुर सीट पशुपति पारस लड़ेंगे लेकिनजेपी नड्डा से चिराग पासवान की मुलाकात के बाद यह स्पष्ट होगया है कि हाजीपुर सीट करीब-करीब चिराग पासवान लड़ने जा रहे हैंऔर एनडीए में सीट शेयरिंग का फार्मूला भी करीब-करीब अब सुलझ गया सीटें ऑफर की जा रही है उन चार सीटों में चिराग पासवान चुनाव कहां से लड़ेंगे वहीं एक और बड़ी जानकारी यह भी है,

कि उपेंद्र कुशवाहा को एक सीटें दी जा सकती है जितन राममाजी को भी एक एक सीट के लिए मना लिया गया है,सूत्रों की माने तो एनडीए में अब ऑल इज वेल है, वहींजेडीयू की बात करें तो जेडीयू 16 सीटों पर चुनावी मैदान में

चिराग पासवान के वयान :-

गठबंधन का स्वरूप पूरे तरीके से तैयार हो चुका है, तो इस मौके पर केंद्रीय गृहमंत्री आदरणीय अमित शाह जी का आदरणीय जेपी नड्डा जी का का अपनी तरफ से अपनी पार्टी के हर एक कार्य करता की तरफ से उनका भी मैं धन्यवाद करता हू,भाई मुझे नहीं पता कि वह गठबंधन का हिस्सा है, नहीं है नहीं वह मेरी चिंता में है हां इतना मैं कह दूं कि मेरे पास किसी का कोटा नहीं है, मेरी जो सिम हैं वह सिर्फ मेरी है गठबंधन में कौन है कौन नहीं वह है या नहीं मुझे नहीं पता बात बाकी मुझे नहीं पता हमारे देश के प्रधानमंत्री आदरणीय नरेंद्र मोदी जी हृदय से आभार प्रकट करता हूं,

NDA के प्रति आभार व्यक्त किया:-

उन्होंने हमेशा जिस प्रकार गठबंधन के भीतर मेरा संरक्षण किया लोक जनशक्ति पार्टी रामविलास को उचित मान सम्मान देने का हमेशा कार्य किया मेरे नेता आदरणीय रामविलास पासवान जी को जिस तरीके से उन्होंने अपने साथी अपने दोस्त की तरह उनके रहते हुए उनके रहते हुए उनके जाने के बाद भी जिस तरीके से उनके मान सम्मान को हमेशा ऊंचा करने का कार्य किया ऐसे में लोग जनशक्ति पार्टी रामविलास का हर एक कार्यकर्ता आज खासतौर पर हमारे प्रधानमंत्री जी का धन्यवाद करता है क्योंकि आज पुणे एनडीए के साथ हम लोग का जो पुराना गठबंधन रहा है.

अबकी बार 400 के पार पर क्या कहा-

जिस गठबंधन के तहत दो-दो बार हम लोग लोकसभा दो दो बार हम लोग विधानसभा का चुनाव पिछले 10 सालों में हमलोग लड़ चुके हैं, आज पुणे इस गठबंधन को उतना ही मजबूत किया है देने का कार्य किया है, मैं भारतीय जनता पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय जेपी नड्डा जी केंद्रीय गृह मंत्री आदरणीय अमित शाह जी का भी विशेष तौर पर धन्यवाद करूं जिन्होंने एक बड़े भाई की भूमिका पार्टी के तमाम हितों को पार्टी के तमाम चिताओं को पार्टी के तमाम कॉन्शियस को न सिर्फ एकनॉलेज किया बल्कि एड्रेस करने का भी काम किया |

आज जब हम लोग गठबंधन यह गठबंधन की घोषणा नहीं से की गठबंधन में हमेशा से हम लोग थे पर चुनाव को लेकर लोकसभा चुनाव को लेकर आज जब सीटों का बंटवारा हो चुका है गठबंधन का स्वरूप पूरे तरीके से तैयार हो चुका है एनडीए का 400 का लक्ष्य न सिर्फ हम लोग पार करेंगे बल्कि बिहार में पिछली बार एक सीट किसी कारण बस हम लोग की रह गई थी, इस बार 40 की 40 सीट एनडीए का एक गठबंधन मिलकर जीतेंगे.

एलजेपी(राo)को मिली राहत:-

चिराग पासवान और पशुपति पारस को लेकर जो लगातार एनडीए के अंदर यह चल रहा था कि क्या एनडीए में दोनों दल रहेंगे और किसको कितनी सीटें मिलेंगे तो चिराग पासवान की बीजेपी केराष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद साफ हो गई है तस्वीर कि चिराग फिलहाल एनडीए के साथ ही रहे बल्कि खबरें निकल कर अब यह आ रही है कि पशुपति पारस की पार्टी कोएक भी टिकट नहीं दिया जा रहा है.

पशुपति नाथ पारस इस बार चुनाव नहीं लड़ पाएंगे, इसके बदले उनको पार्टी को मिला:-

यानी कि पशुपति पारस की पार्टी इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेगी पशुपति पारस की पार्टी से फिलहाल पांच सांसद हैं, जिसमें से एक खुद पशुपतिपारस हैं, प्रिंस हैं, वैशाली की सांसद वीना देवी हैं, खगरिया से महबूब अली कैसर हैं, अब यह खबर निकलकर सामने आ रही है कि पशुपति पारस की पार्टी को एनडीएगठबंधन के अंदर एकभी टिकट नहीं दिया जाएगा, बल्कि एनडीए के कोटे से जो एलजेपी पिछली बार छह सीटों पर चुनाव लड़ी थी, वो इस बार पांच सीटों पर चुनाव लड़ेगी, एनडीए में लगातार सीट शेयरिंग कोलेकर बातचीत चल रही थी,

चिराग की ज़िद:-

जिसमें चिराग पासवान अरे हुए थे कि उन्हें पिछली बार लोकसभा चुनाव में जितनी उनकी पार्टी ने चुनाव लड़ा था, उतना टिकट तो जरूर दिया जाए, लेकिन अबउनकी बातचीत के बाद यह बातें निकल कर सामने आ रही है कि पांच सीट चिराग पासवान को तो दे दिया गया है,

पशुपतिनाथ पारस के सामने प्रस्ताव :-

लेकिन पशुपति पारस जो फिलहाल केंद्र में मंत्री भी हैं, उनकी पार्टी कोएक भी टिकट मिलने नहीं जा रहा, पहले यह खबर थी कि समस्तीपुर की सीट जो है वो पशुपति पारस लड़ सकते हैं, लेकिन खबरें निकल कर यह आ रही हैं कि पशुपति पारस को गवर्नर बनाया जासकता है किसी स्टेट का और प्रिंसराज जो कि उनके भतीजे हैं चिराग के चचेरे भाई हैं उन्हें बिहार सरकार में मंत्री बनाया जा सकता है

दोनो पार्टी के बिच प्रबंधित:-

कुल मिलाकर देखें तो बीजेपी ने चिराग पासवान के दोनों धरे यानी एलजेपी के जो दोनों धरे थे उसकी रार को सुलझाने के लिए यह तरीका निकाला कि एक पार्टी यानी कि चिराग पासवान की पार्टी लोकसभा चुनाव में रहेगी औरपशुपति पारस इस चुनाव से बाहर हो जाएंगे, कुल मिलाकर देखा जाए तो बिहार की राजनीतिक तस्वीर में अब ये साफ हो गया है कि चिराग पासवान एनडीए के साथ ही लड़ेंगे,

चिराग पर “INDIA” की भी नजर बनी है

उधर नीतीश कुमार के वापस एनडीए में आ जाने के बाद सीट शेयरिंग का मामला चिराग पासवान के लिए ज्यादा गड़बड़ा गया है खबर है कि खबर है कि चिराग पासवान पर अब महागठबंधन भी डोरे डाल रहा है और इस कोशिश में लगा हुआ है कि चिराग बिहार महागठबंधन का हिस्सा बन जाए. खबर है कि बिहार महागठबंधन मैं शामिल होने के लिए चिराग पासवान को आठ लोकसभा सीट देने का और उत्तर प्रदेश में दो लोकसभा सीट देने का प्रस्ताव किया गया है

Also read:- https://loasreport.com/caa-citizenship-amendement-act-india/

Leave a Comment